Skill Development & Job Creation

“Believe you can and you’re halfway there.”
My name is Anjali Srivastava. I have 100% disability. I want to prove myself in a positive way that nothing is impossible in the world. I joined Saubhagya Foundation under PMKVY for Domestic Data Entry Operator and now I am working with Saubhagya Foundation as Receptionist. Joining here is one of the most happiest moment of my life.

“Abled does not mean enabled. Disabled does not mean less abled”
My name is Pinki. I am from Hardoi, I have a disability of 45% from the one leg. To prove my abilities I joined Saubhagya Foundation and take training under PMKVY for Customer Care Executive and now I’m working for Saubhagya Foundation as Admin Executive. Today I am very proud and happy.

“I choose not to place ‘DIS’, in my ability.”
My name is Pinky Gupta, I am from Lucknow. I have a disability of 65% from my lower limbs. I am a single parent-child. I have done Customer Care Executive course from Saubhagya Foundation and after immediately completing the course I have been placed with @AegisBPO. Today I am feeling very happy to reduce the hardship of my mother by becoming her supporting pillar.

"नेतृत्व का उद्देश्य लोगो को सही रास्ता बताना है।"
मेरा नाम जितेंद्र मौर्या है। मैं लखनऊ के रहनेवाला हूँ। मेरी दिव्यांगता एक पैर से 45% है। मैंने प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना के प्रशिक्षण केंद्र सौभाग्य फाउंडेशन से कोर्स किया और कोर्स करने के तुरंत बाद ही सौभाग्य फाउंडेशन ने मुझे अपने यहाँ ही नौकरी दी। आज मैं अपने दिव्यांग पिताजी का सहारा बन कर बहुत खुश हूँ।

“पछतावे से अच्छा है कोशिश करके फेल हो जाना।“
मेरा नाम आकाश है। मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ। मेरी दिव्यांगता दोनों पैरों से 90% है। मैंने स्किल इंडिया के अंतर्ग्रत सौभाग्य फाउंडेशन से कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव का कोर्स करने के तुरंत बाद ही मेरे को सौभाग्य फाउंडेशन में ही जॉब मिल गई। मैंने कभी नहीं सोचा था की जहाँ से मैं कोर्स करूँगा वही मेरे को जॉब भी लग जाएगी। आज मैं अपनी ख़ुशी बयान नहीं क्र पा रहा हूँ।

“Believe you can and you’re halfway there.”
My name is Gufran, I am from Lucknow. I have hearing impairment disability. My father is Milkman and he goes door to door to supply milk in his area. I have done the course from Saubhagya Foundation and after competition of my course I have been placed with Gupta Opticals as Sales Executive. I am unable to express my feeling that how much i am happy to become supporting hand to father.

“I can’t change the direction of the wind, but I can adjust my sails to always reach my destination.”
My name is Rajnesh Kumar Gautam, I am from Hardoi district. I have a disability of 60% from my lower limbs. My father is a farmer. I have done the course from Saubhagya Foundation and after immediately completing the course I got the opportunity to work with RAV Enterprises as a Data Entry Operator. This day is happiest day of my life and my family member

“Keep your face always toward the sunshine – and shadows will fall behind you.”
My name is Prasoon Rajan Maurya, I am from Gorakhpur. I am hearing impairment disability. My father is an Ambulance driver. I did course under Skill India Mission from Saubhagya Foundation, Lucknow and after immediately completing of my I got placed with @MaxRetail as Retail Sales Associate, Gorakhpur. Today I am very happy to work in the mainstream.

“Disability is a matter of perception. If you can do just one thing well, you’re needed by someone.”
My name is Anand Kumar Pandey, I am from Gorakhpur. I am hearing impairment disability. I am the sixth and youngest person in my family. My father is a salesman with FMCG distribution. I have done the course from Saubhagya Foundation and after immediately completing the course I have been placed with MaxRetail as Retail Sales Associate at my home town Gorakhpur. I am feeling very proud today, that now I am supporting hand to father.

"जब कदम थक जाते हैं, तो हौसला साथ देता है"
मेरा नाम रवि प्रकाश है। मैं शाहजहाँपुर का रहने वाला हूँ। मैं एक पैर से 50% दिव्यांग हूँ। मेरे पिताजी एक किसान है। मैंने सौभाग्य फाउंडेशन से रिटेल सेल्स एसोसिएट का कोर्स किया है और कोर्स के तुरंत बाद ही मेरे को विशाल मेगामार्ट में जॉब मिल गयी है। आज मेरे पास अपनी खुशी व्यक्त्त करने के लिए शब्द नही है, पर बस इतना ही केहे सकता हूँ कि अगर मन मे इच्छा हो तो सब कुछ संभव है।

“कल्पना की शक्ति हमें अनंत बनाती है।”
मेरा नाम सोनी अली है। मैं बरैल्ली की रहने वाली हूँ। मेरी दिव्यांगता 40% है। मैंने सौभाग्य फाउंडेशन से इन स्टोर प्रोमोटर का कोर्स किया और कोर्स करने के बाद ही सौभाग्य फाउंडेशन द्वारा आयोजित रोजगार मेले में मेरी नौकरी शशि इंट्रप्रेइसेस में बतोर टेली कॉलर एग्जीक्यूटिव लग गई है। आज मैं अपने परिवार का एक मुख्य सदस्य के रूप में सहियोग प्रदान करने में सक्षम हो गयी हूँ।

दुनिया आपके “उदाहरण” से बदलेगी, आपकी “राय” से नहीं
मेरा नाम अनिता देवी है। मैं लखनऊ जिले के एक गांव से हूँ। मेरी दिव्यांगता एक पैर से 70% है। मैं एक किसान की बेटी हूँ। मैंने सौभाग्य फाउंडेशन से कोर्स किया और कोर्स करने के तुरंत बाद ही मेरे को शशि इंट्रप्रेइसेस में जॉब मिल गयी। आज में बहुत खुश हूँ कि आज मेरे को मेरी दिव्यांगता को देख कर नही, मेरे हुनर को देख कर आज मुझे नौकरी मिली है।

“अगर नियत अच्छी हो तो, नसीब कभी बुरा नहीं होता !”
मेरा नाम रोहिणी देवी है। मैं लखनऊ जिले के एक छोटे से गाँव से हूँ। मेरे पिताजी एक किसान है। मेरी दिव्यांगता एक हाथ से 65% है। मैंने सौभाग्य फाउंडेशन से कोर्स किया है और कोर्स करने के तुरंत बाद ही मेरी जॉब शशि इंट्रप्रेइसेस में लग गई है। आज मेरे को इस नई राह पर चलने में एक नई सुफुर्ति का एहसास हो रहा है।

"समय दिखाई नहीं देता पर बहुत कुछ दिखा देता है।"
मेरा नाम तबस्सुम बानो है। मैं लखनऊ की रेहने वाली हूँ। मेरे परिवार में 7 लोग है और मेरे पिताजी एक ड्राइवर है। मेरी दिव्यांगता 81% है। मैंने स्किल इंडिया के अंतर्गत सौभाग्य फाउंडेशन से कोर्स किया है। कोर्स करने के बाद मेरी जॉब शशि इंटरप्राइजेज में बतोर टेली कॉलर एग्जीक्यूटिव लग गई है। आज मैं बहुत खुश हूँ, कि आज मुझे मेरी दिव्यांगता को देखते हुए नहीं, मेरी काबिलियत देखते हुए नौकरी मिली है।

“आप वो हैं जो आप सोचते है”
मेरा नाम विष्णु है। मेरी दिव्यंगता एक पैर से 50% है। मै आगरा का रहने वाला हूँ, मेरे पिताजी अपने छोटे भाई की दुकान में काम करते है। मैंने सौभाग्य फाउंडेशन से इन स्टोर प्रमोटर का कोर्स किया और जिस के बाद मेरी नौकरी रिलायंस ट्रेंड्स में लग गई है। आज मै अपने पिताजी का सहारा बनकर बहुत खुश हूँ।

“Life is about making an impact, not making an income.
मेरा नाम राहुल चक्क है, मैं फिरोज़ाबाद का रहने वाला हूँ। मेरे पिताजी की चूड़ियों की दुकान है। मेरी दिव्यांगता एक पैर से 50% है और मेरे परिवार में 10 लोग है। मैंने लखनऊ में स्तिथ सौभाग्य फाउंडेशन से कोर्स किया और आज मै विशाल मेगामार्ट में नौकरी कर रहा हूँ। आज मुझे अपने पिताजी का सहारा बन कर बहुत खुशी हो रही है।

“अगर हारने से डर लगता है तो, जितने की इच्छा कभी मत रखना!”
मेरा नाम इमरान है। मैं लखनऊ का रहने वाला हूं। मेरे पिताजी एक आटा चक्की में लेबर का काम करते है। मेरी दिव्यांगता पैरो से 90% है। मैंने सौभाय फाउंडेशन से कस्टमर केअर एक्सएक्यूईवे का कोर्स किया और मैं आज श्योरविन (C.M. Helpline) में जॉब कर रहा हूं। आज मेरे लिए अपनी खुशी ब्यान करपाना बहुत मुश्किल है, आज मैं अपने पिताजी के साथ अपने परिवार का सहारा बन गया हूँ।

भुत और भविष्य को छोड़कर इस पल का आनंद लो |
मेरा नाम बंटी है मैं बिजनोर का रहने वाला हूं। मै एक पैर से दिव्यांग हूं। मैंने प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र, सौभाग्य फाउंडेशन से स्किल इंडिया मिशन के अंतर्गत प्रशिक्षण लिया है। प्रशिक्षण लेने के बाद मेरी नौकरी विशाल मेगामार्ट मे लग गई है। आज मै और मेरा परिवार के सभी सदस्य बहुत खुश है।

ज़िंदगी उन लोगो के लिए आसान नहीं पर दिलचस्प है , जो परिवर्तन का सपना देखते हैं |
मेरा नाम सुनील कुमार है मैं पीलीभीत का रहने वाला हूँ मेरे पिताजी एक किसान है। मैने सौभाग्य फाउंडेशन लखनऊ से स्किल इंडिया के विभिन्न कोर्सो में से कस्टमर केअर एग्जीक्यूटिव का कोर्स किया और आज मेरी नौकरी श्योरविन में सी एम हेल्पलाइन प्रोसेस में बतौर कस्टमर केअर एग्जेक्युटिव लग गई है। आज मुझे अपने परिवार का सहारा बन कर बहुत खुशी हो रही है।

I'm really excited to educate the world about what deaf people can do.
मेरा नाम मुजाहिद अली है, मैं लखनऊ का रेहने वाला हूं, मैं बोल और सुन नहीं सकता पर स्किल इंडिया के अंतर्गत मैंने कोर्स किया और आज मेरी नौकरी V-Bazaar में लग गई है, जिससे आज मेरी ज़िन्दगी को एक नयी राह मिल गयी है।

No one is as deaf as the man who will not listen.
मेरा नाम अभय कुमार त्रिपाठी है, मैं बोल और सुन नहीं सकता, V-Bazaar में नौकरी पाकर आज बहुत खुश हूं, आज मेरे को मेरी दिव्यांगता के अनुसार जो नौकरी मिली है वो मेरे आने वाले खुशहाल जीवन के लिए पेहला कदम है।

Kindness is the language which the deaf can hear.
मेरा नाम कृष्णा कुमार है मैं सुन और बोल नहीं सकता स्किल इंडिया से मैने फ़ूड एंड बेवरीज का कोर्स किया जिस के करने के तुरंत बाद मेरे को इलाइची कैफ़े में जॉब मिल गई है आज मेरी दिव्यांगता ही मेरी आने वाली सफलता की सीढ़ी बनगई है

A different language, Is a different vision of Life.
मेरा नाम गंभीर गुप्ता है मैं सुन और बोल नहीं सकता मैने स्किल इंडिया के अंतर्गत फ़ूड एंड बेवरीज का कोर्स किया और मेरी नौकरी इलाइची कैफ़े में लग गई है यह मेरी ज़िन्दगी के नयी शुरुआत है और मैं बहुत ज्यादा खुश हूँ आज

At Home, I’m the only deaf person. When I’m here, I can Communicate.
मेरा नाम विनोद कुमार कनौजिया है, मैं लखनऊ का निवासी हूँ, मैं सुन और बोल नहीं सकता पर Skill India ने मेरे दिव्यांगता को एक नयी रहा दी है आज मेरे को सरोवर पोर्टिको होटल में अच्छी जॉब मिल गयी है

My eye is my ear, my hand is my mouth, happy to be employed
मेरा नाम राहुल तिवारी है, मैं लखनऊ का रेहेने वाला हूँ, मैं सुन और बोल नहीं सकता, मैने Skill India के अंतर्गत ट्रेनिंग की है और सरोवर पोर्टिको होटल में आज मेरी जॉब लग गयी है

हर आदमी अपनी ज़िन्दगी में हीरो हैं बस कुछ लोगो की फिल्मे रिलीज़ नहीं होती
मेरा नाम सोनू कुमार रजक है, मैं एक किसान का बेटा हूँ, मेरी दिव्यांगता 80% है, मैने Skill India के विभिन ट्रेनिंग कोर्स में से Customer Care Executive का कोर्स किया और मेरे को ट्रेनिंग के अगले ही दिन Aegis BPO में जॉब मिलगई ये जॉब पाकर आज मैं आप परिवार का सहारा बन गया हूँ|

ज़िंदगी आगे बढ़ने का नाम है, रुकने का नही..!” मेरा नाम गौरव वर्मा है, मैं कानपुर का निवासी हूँ, मैं सुन अथवा बोल नहीं सकता, Skill India के अंतर्गत्त मैने लखनऊ से कोर्स करके, मैने अपनें ही शहर कानपुर में विशाल मेगामार्ट नौकरी हासिंल की जिससें आज मैं बहुत ही प्रसन्न हूँ |

किसी चीज़ को दिल से चाहो तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने में लग जाती है.
मेरा नाम उपासाना पाल है, मैं हरदोई जिला की हूँ, मेरी दिव्यांगता 45% है, मैने Skill India से ट्रेनिंग ली है, ट्रेनिंग के तुरंत बाद ही मेरी नौकरी A K Infra में लग गई है, मैं जॉब पाकर बहुत खुश और सक्षम महसूस कर रही हूँ.

कुछ भी असंभव नहीं, जो सोच सकते है, वो कर सकते है.
मेरा नाम आसमा बानो है, मैं लखनऊ की निवासी हूँ, मेरी दिव्यांगता 50% है, Skill India की ट्रेनिंग के माद्यम से आज में विशाल मेगामार्ट लखनऊ में रीटेल सेल्स एसोसिएट की जॉब कर रही हूँ, आज Skill India के इस मिशन ने मानो मुझे 100% अपने पैरो पर खड़ा कर दिया है.

जो नहीं है हमरे पास वो "ख्वाब" है, पर जो है हमारे पास वो "लाजवाब" है.
मेंरा नाम संगीत राणा है, मैं एक पैर से दिव्यांग हूँ, Skill India ने मुझे इस काबिल बनाया कि मैं इस समाज में सामान रूप से कार्य कर सकू, इस ट्रेनिंग को करके में आज विशाल मेगामार्ट में कायर्रत हूँ.

है मेरा हौसला अदभुत और अटल, मैं हर रूप में सम्पूर्ण और बहुत सक्षम हूँ.
मेरा नाम विकास श्रीवास्तव है, मैं स्पाइनल कॉर्ड से अक्षम हूँ, skill India के अंतर्गत ट्रेनिंग करके मुझे जीवन में नई राह मिली है, ट्रैनिग समाप्ति के ठीक दूसरे ही दिन Aegis BPO में कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव के पद पे जॉब मिल गई.

अभिलाषा से भरे इस मन का हौसला न तुमको खोने देंगे,तुम कोशिश करो ऐ साथी दिव्यांगता का एहसास न तुमको होने देंगे.
मेरा नाम सोनी गुप्ता है, में दोनों पेर से दिव्यांग हूँ, Skill India के अंतर्गत ट्रेनिंग करके मुझे मेरी दिव्यांगता एवं इच्छा अनुसार ट्रेनिंग के दूसरे ही दिन Ageis BPO में कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव की जॉब मिल गई.

दिव्यांग जरूर है, पर हौसला कम नहीं, जज़्बा जीने का ताड़ सके इतना किसी में दम नहीं.
मेरा नाम प्रभाकर राय है. में लखनऊ जिले का निवासी हूँ, मैं बोल व सुन नहीं सकता, Skill India के माध्यम से ट्रेनिंग करने के पश्चात मुझे रिलायंस ट्रेंड में नौकरी मिल गई जिससे में बहुत खुश हूँ.

में सुन नहीं सकता बाहर का शोर मगर रूह का संगीत खींचता है मुझे अंदर की ओऱ.
मेरा नाम अजयदीप अस्थाना है, में लखनऊ का निवासी हूँ, Skill India के माध्यम से मुझे मैक्स रिटेल में नौकरी मिल गई, ये मेरी ज़िन्दगी का सबसे सुनेहरा अवसर और पल है.

मुझे देखकर तू मुझे कमजोर मत समझना बेड़िया शरीर पर है हौसलों में नहीं
मेरा नाम मंतोरि राणा है, में उत्तराखंड के एक छोटे से गांव से हु, मेरी दिव्यांगता 50% है लेकिन आज Skill India के माध्यम से में विशाल मेगामार्ट में कायर्रत हूँ, आज Skill India के इस मिशन ने मानो मुझे 100% अपने पैरो पर खड़ा कर दिया है

"Believe and act as if it were impossible to fail. "
My name is Vijay Patel. I have a 100% disability. There are six members in my family. My father is a farmer. Then to support my family, I took training from Saubhagya Foundation under Skill India Mission and currently I have been placed in SUREVIN as Customer Care Executive. It is indeed one of the happiest days of my life.

"The roots of education are bitter, but the fruit is sweet."
My name is Desh Deepak I live in Sitapur. I believe that “it is your decision and not condition which determines what you are”. However, I have always remained positive and motivated. I have 80% disability in my limbs. My father is a farmer, so it was difficult for him to bear the expense of the whole family. Then to support my family, I took training from Saubhagya Foundation under PMKVY for Customer Care Executive and currently I have been placed in SUREVIN as Customer Care Executive. It is indeed one of the happiest days of my life.

Great things never come from comfort zones.
"Hear my Heart" was constructed with the deaf in mind. I was raised in a hearing world and in a deaf world at the same time. I like them both. I like using gestures, pen, paper, texting, I use it all. My father is a shopkeeper, my mother is a home-maker, I have 5 brothers and 1 sister. I joined Saubhagya Foundation under PMKVY programme and today i would really like to thank Skill India that i got a job opportunity to work with Reliance Trends. It is indeed one of the happiest day of my life.

Great things never come from comfort zones.
"Hear my Heart" was constructed with the deaf in mind. I was raised in a hearing world and in a deaf world at the same time. I like them both. I like using gestures, pen, paper, texting, I use it all. My father is a shopkeeper, my mother is a home-maker, I have 5 brothers and 1 sister. I joined Saubhagya Foundation under PMKVY programme and today i would really like to thank Skill India that i got a job opportunity to work with Reliance Trends. It is indeed one of the happiest day of my life.

"नेतृत्व का उद्देश्य लोगो को सही रास्ता बताना है।"
मेरा नाम लक्ष्मण सिंह है। मैं बरैली के गॉव माघोरपुर पोस्ट परसरामपुर नवाबगंज बरैली का रहने वाला हूँ। घर में मेरे पिताजी माँ और दो बड़े भाई है । मेरा एक भाई स्कूल बस ड्राइवर है और मेरे पिताजी किसान है मेरी माँ घर का कार्य करती है। पहले मैं एक विधालय में अध्यापक था और वहां पर मुझे ४००० रुपया मिलते थे ! सौभाग्य फाउंडेशन से कोर्स करने के बाद मेरी नौकरी रिलायंस ट्रेंड जैसी बड़ी कंपनी मैं लग गई है आज मैं अपनी ख़ुशी बयान नहीं कर पा रहा हूँ।

“Tough times never last, but tough people do.”
My name is Suresh Kumar. I have a 40% disability in my lower limbs. There are 5 brothers and sisters in my family. My father is a farmer. I was unemployed before. I took training from Saubhagya Foundation under Skill India Mission for Customer Care Course and currently I have been placed in Swiggy. This is most happiest day of my life.

“Believe and act as if it were impossible to fail. “
My name is Manoj Kumar. I from Mohommadpur. I have 45% disability from one leg. There are 11 members in our family. I took training from Saubhagya Foundation and currently I have been placed in Swiggy as Delivery Partners. I am unable to express my feeling that how much i am happy to become supporting hand to father.

“Action is the foundational key to all success”
My name is Basant Kumar. I From Gopalpur. I have 50 % disability from lower limbs. There are 10 members in our family. I joined Saubhagya Foundation and now I am working with Swiggy as Delivery Partners. Today I am very proud happy.

“Action is the foundational key to all success”
My name is Basant Kumar. I From Gopalpur. I have 50 % disability from lower limbs. There are 10 members in our family. I joined Saubhagya Foundation and now I am working with Swiggy as Delivery Partners. Today I am very proud happy.

“It is never too late to be what you might have been.”
My name is Kuldeep Gautam. I have 60 % disability from lower limbs. I am from Biswan, Sitapur. There are 8 members in our family. Today i would really like to thank Saubhagya Foundation that i got a job opportunity to work with Swiggy as Delivery Partners. Joining here is one of the most happiest moment of my life.

“Make Each Day Your Masterpiece.”
My name is Sunil Verma. I have 60% disability from 1 leg. I am from Kaisegranj, Bahraich, U.P. There are 9 members in our family. Then to support my family, I took training from Saubhagya Foundation under Skill India Mission and currently I have been placed in Swiggy as Delivery Partners. It is indeed one of the happiest days of my life.

“Know me for my abilities, not my disability.”
My name is Pradeep Kumar. I from Barabanki. I have 40% disability. There are 4 members in our family. I took training from Saubhagya Foundation and currently I have been placed in Swiggy as Delivery Partners. Today I am very proud happy.

“Action is the foundational key to all success”
My name is Eshan. There are 6 members in my family. I have done Retail sales Associate Course from Saubhagya Foundation and now I am working with Swiggy as Delivery Partner. This day is the happiest day of my life and my family member,

“Make each day your materpiece”
My name is Arvind Kumar. I am from Lucknow. There are 4 members in my family. I joined Saubhagya Foundation and did In-Store Promoter course and now I am working with Swiggy as Delivery Partner. Joining here is one of the happiest moment of my life

“Tough times never last, but tough people do.”
My name is Nilesh Pal. There are 5 members in my family. I took training from Saubhagya Foundation for Customer Care Executive and currently I have been placed in Swiggy as Delivery Partner. Today I am very proud happy.

“Only I can change my life. No one can do it for me.” My name is Ankit Johri. I have a 100% hearing impairment. I am from Bareilly. There are 6 members in my family. I have done the Food and Beverage course from Saubhagya Foundation and now I am working with V-BAZAAR as Sales Associates. Joining here is one of the happiest moment of my life.